मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना 2023- आवेदन फॉर्म, उद्देश्य, पात्रता एवं लाभ-

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना 2023- आवेदन फॉर्म, उद्देश्य, पात्रता एवं लाभ

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना 2023:- आवेदन फॉर्म, उद्देश्य, पात्रता एवं लाभ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा शुरू की गई उत्तर प्रदेश सरकार की “मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना” उत्तर प्रदेश को हरित राज्य बनाने के लिए कई प्रयासों का हिस्सा है। इस योजना के तहत वृक्षारोपण को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस योजना के तहत वृक्ष लगाने वाले लोगों को 50,000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इससे उन्हें आर्थिक रूप से मजबूती मिलेगी और वे अधिक से अधिक पौधे लगाने के लिए प्रोत्साहित हो सकेंगे। इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए और पात्रता संबंधी जानकारी के लिए आपको इस आर्टिकल को विस्तार से पढ़ना होगा।

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना 2023 –

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना को शुरू किया है। इस योजना के अंतर्गत, यदि कोई भी मनरेगा योजना के लाभार्थी अपनी निजी भूमि पर वृक्ष लगाता है, तो सरकार द्वारा उसे आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत लाभार्थी को निजी भूमि पर कम से कम 200 पौधे लगाने होंगे। यदि लाभार्थी अपनी निजी भूमि पर 200 वृक्षों का पौधारोपण कर लेता है, तो उसे सरकार द्वारा 3 वर्षों में 50,000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यह आर्थिक सहायता राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में भेजी जाएगी। इस योजना के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी और राज्य को हरित राज्य बनाने में सहयोग मिलेगा। कृषक वृक्ष धन योजना के तहत छायादार और फलदार पौधों का रोपण किया जाएगा।

Mukhyamantri Krishak Vriksh Dhan Yojana के बारे में जानकारी –

योजना का नाम Mukhyamantri Krishak Vriksh Dhan Yojana
शुरू की गई उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थी राज्य के नागरिक
उद्देश्य पौधे लगाने और उनका संरक्षण करने पर आर्थिक सहायता प्रदान करना
लाभ 50,000 रुपए
राज्य उत्तर प्रदेश
साल 2023
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइट जल्द लॉन्च होगी

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना का उद्देश्य –

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना की शुरुआत का प्रमुख उद्देश्य राज्य को हरित बनाने के लिए पौधों के लगाने और उनके संरक्षण पर आर्थिक सहायता प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से लोगों को अपनी जमीन पर ज्यादा से ज्यादा पौधारोपण करने और उनके संरक्षण पर 50,000 रुपए की राशि प्रदान की जाएगी। राज्य के किसानों की आय में बढ़ोतरी के लिए यह योजना महत्वपूर्ण है, जो उन्हें सशक्त और आत्मनिर्भर बनाने में मदद करेगी। सरकार द्वारा हर वर्ष पर्यावरण दिवस पर वृक्षारोपण अभियान के तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों को वृक्षारोपण के महत्व को समझाने का प्रयास किया जाता है, ताकि पर्यावरण को स्वच्छ रखने में लोगों का योगदान मिल सके।

15 अगस्त को लगाए जाएंगे 50 लाख पौधे –

22 जुलाई को आयोजित होने वाले वन महोत्सव को सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने सभी गांवों को आवश्यकता अनुसार कम से कम 1000 पौधे लगाने का प्रयास करने को कहा है। इससे उत्तर प्रदेश के सभी गांव हरित राज्य बनाने में सहायता प्रदान करेंगे। इसके साथ ही, उन्होंने जानकारी भी दी है कि 15 अगस्त को उत्तर प्रदेश में 5000000 पौधे लगाए जाएंगे। वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। साथ ही, मुख्यमंत्री ने कृषक वृक्ष धन योजना का प्रचार-प्रसार करने के लिए एक मुहिम भी चलाई है, जिससे ज्यादा से ज्यादा किसानों को इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।

Mukhyamantri Krishak Vriksh Dhan Yojna के तहत लगाए जाने वाले पौधों की सूची

इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने हेतु उम्मीदवार को अपनी जमीन पर कौन-कौन से पौधे लगाने होंगे इनकी जानकारी नीचे दी गई है।

  • नींबू
  • चीकू
  • आंवला
  • आम
  • कटहल
  • बांस
  • अमरुद
  • नीम
  • बबूल
  • कदम
  • शीशम
  • यूकेलिप्स
  • सागोन

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना का मुख्य बिंदु –

  • मुख्यमंत्री ने कृषक वृक्ष धन योजना के अंतर्गत योजना किया है कि लाभार्थी को 3 वर्ष में अधिकतम 300 पौधे लगाने होंगे।
  • पौधों के बीच 2 से 3 मीटर का अंतर होना चाहिए।
  • मनरेगा में वन विभाग की दरों के अनुसार पौधों की लागत निर्धारित होगी।
  • योजना की कार्यदाई संस्था के रूप में वन विभाग कार्य करेगा और पौधे वन विभाग उद्यान विभाग की पौधशाला से उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • पौधों की सुरक्षा का दायित्व संबंधित खेत स्वामी का होगा।

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना के लिए पात्रता –

  • मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु आवेदक को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक के पास मनरेगा के तहत जॉब कार्ड होना अनिवार्य है।
  • आवेदक किसान के नाम पर भूमि होनी चाहिए।
  • इस योजना के तहत आवेदक को कम से कम अपनी जमीन पर 200 पौधे लगाना जरूरी है।
  • सरकार द्वारा इस योजना के तहत दी जाने वाली आर्थिक सहायता राशि बैंक खाते में जमा की जाएगी इसलिए आवेदक का बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज –

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • मनरेगा जॉब कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया –

  • सबसे पहले आपको अपने ब्लॉक ऑफिस जाना होगा।
  • वहां जाकर आपको Mukhymantri Krishak Vriksh Dhan Yojana का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन  फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको उसमें मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा।
  • उसके बाद आपको फॉर्म के साथ आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करना होगा।
  • अब आपको यह आवेदन फॉर्म वापस वही जमा कर देना होगा जहां से आप ने प्राप्त किया था।
  • फॉर्म जमा होने के बाद आप के दस्तावेजों की जांच की जाएगी सही पाए जाने पर आपको इस योजना का लाभ प्रदान कर दिया जाएगा।
  • इस प्रकार आप मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना उत्तर प्रदेश के तहत आवेदन कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना FAQs

Q- मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना किस राज्य में शुरू की गई है?

Ans– मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना उत्तर प्रदेश राज्य में शुरू की गई है।

Q-मुख्यमंत्री वृक्ष धन योजना के अंतर्गत कितने वृक्ष लगाने पर लाभ मिलेगा?

Ans– Krishak Vriksh Dhan Yojana के अंतर्गत कम से कम 200 पौधे लगाने पर लाभ मिलेगा।

Q-Mukhymantri Krishak Vriksh Dhan Yojana के तहत कितने रुपए की आर्थिक सहायता मिलेगी?

Ans-मुख्यमंत्री कृषक वृक्ष धन योजना के तहत 50 हजार रुपए की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *