Kanya Sumangala Yojana – कन्या सुमंगला योजना – Uttar pradesh Scheme

Kanya Sumangala Yojana - कन्या सुमंगला योजना - Uttar pradesh Scheme

Kanya Sumangala Yojana – कन्या सुमंगला योजना – Uttar pradesh Scheme, Child Empowerment, Education, Financial Assistance, Girl welfare( बाल सशक्तिकरण, शिक्षा, वित्तीय सहायता, कन्या कल्याण )

महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की प्रतिबद्धता है। उपरोक्त के दृष्टिगत राज्य सरकार द्वारा “कन्या सुमंगला योजना” लागू करने का निर्णय लिया गया है।

कन्या सुमंगला योजना का मुख्य उद्देश्य कन्या भ्रूण हत्या को समाप्त करना, समान लिंग अनुपात स्थापित करना, बाल विवाह की कुप्रथा को रोकना और लड़कियों के स्वास्थ्य में सुधार करना है। और शिक्षा को बढ़ावा देना, लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाने में मदद करना, लड़कियों के जन्म के प्रति समाज में सकारात्मक सोच विकसित करना।

Benefits of (लाभ):

कन्या सुमंगला योजना छह श्रेणियों में लागू होगी।

लाभार्थियों के वर्गीकरण और उनके लिए धन के वितरण की श्रेणियां निम्नानुसार निर्धारित की जाती हैं:-

  1. पहला चरण:- कन्या के 1 अप्रैल 2019 या इसके बाद जन्म होने पर तथा इस योजना के तहत कन्या के लिए आवेदन जन्म से लेकर 6 माह के  अंदर करना पर 2000 रूपये की धनराशि दी जाएगी।
  2. दूसरा चरण:- कन्या के एक वर्ष के तक के पूर्ण टीकाकरण के उपरांत 1000 रूपये की धनराशि दी जाएगी।
  3. तीसरा चरण:- कन्या के कक्षा 1 में प्रवेश लेने पर 2000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी |
  4. चतुर्थ चरण:– कन्या के कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर 2000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी |
  5. पांचवां चरण:– इसके बाद कक्षा 9 में प्रवेश लेने के उपरांत3000 रूपये की धनराशि  प्रदान  की जाएगी।
  6. छठा चरण:– कक्षा 10 /12 वी  उत्तीर्ण करके चालू शैक्षिणिक सत्र के दौरान स्नातक /डिग्री या कम से कम दो वर्षीय डिप्लोमा में प्रवेश लेने पर 5000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।

 

Eligibility(पात्रता):

  1. लाभार्थी का परिवार उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए और उसके पास स्थायी निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए, जिसमें राशन कार्ड / आधार कार्ड / वोटर आईडी कार्ड / बिजली / टेलीफोन बिल मान्य होगा।
  2. लाभार्थी की अधिकतम वार्षिक पारिवारिक आय 3.00 लाख रूपये होनी चाहिए।
  3. एक परिवार में अधिकतम दो लड़कियों को योजना का लाभ मिल सकेगा।
  4. परिवार में अधिकतम दो बच्चे होने चाहिए।
  5. यदि किसी महिला को दूसरे प्रसव से जुड़वाँ बच्चे होते हैं तो तीसरी संतान के रूप में लड़की को भी लाभ देय होगा। यदि किसी महिला को पहले प्रसव से एक लड़की और दूसरे प्रसव से केवल दो जुड़वाँ लड़कियाँ हैं, तो ऐसी स्थिति में ही इसका लाभ तीनों लड़कियों को मिलेगा।
  6. यदि किसी परिवार ने अनाथ बालिका को गोद लिया हो, तो परिवार की जैविक संतानों तथा विधिक रूप में गोद ली गयी संतानों को सम्मिलित करते हुये अधिकतम दो बालिकायें इस योजना की लाभार्थी होंगी।

Application Process(आवेदन प्रक्रिया)

Online(ऑनलाइन)

  1. सबसे पहले आवेदकों को महिला एवं बाल विकास विभाग की एमकेएसवाई की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा
  2. होम पेज पर Citizen Service Portal विकल्प पर क्लिक करें।
  3. विकल्प पर क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा।
  4. इस पेज पर आवेदकों को सहमति का विकल्प दिखाई देगा, ‘I agree’ और ‘Continue’ पर क्लिक करें। इस पर क्लिक करने के बाद अगला पेज खुलेगा जिस पर आवेदकों को रजिस्ट्रेशन फॉर्म मिलेगा।
  5. रजिस्ट्रेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे नाम, आधार नंबर, मोबाइल नंबर और ओटीपी दर्ज करके सत्यापित करना होगा। सत्यापन के बाद रजिस्ट्रेशन किया जाएगा।
  6. सफल पंजीकरण के बाद मोबाइल फोन पर यूजर आईडी प्राप्त होगी।
  7. लॉगइन करने के बाद आवेदकों को लड़की का रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा।
  8. आवश्यक दस्तावेज़ अपलोड करें।
  9. जमा करना।

Documents Required(आवश्यक दस्तावेज़):-

पहला चरण:-

  1. बच्ची की वर्तमान फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. जन्म प्रमाणपत्र।

दूसरा चरण:-

  1. बच्ची की वर्तमान फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. टीकाकरण कार्ड.

तीसरा चरण:-

  1. बच्ची की वर्तमान फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. कक्षा 1 के लिए प्रवेश प्रमाण पत्र.
  5. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)।

चतुर्थ चरण:-

  1. बच्ची की वर्तमान फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. कक्षा 6वीं के लिए प्रवेश प्रमाण पत्र।
  5. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)।

पांचवां चरण:-

  1. बच्ची की वर्तमान फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. कक्षा 9वीं के लिए प्रवेश प्रमाण पत्र।
  5. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)।

छठा चरण:-

  1. बच्ची की वर्तमान फोटो.
  2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो।
  3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र।
  4. 10वीं/12वीं प्रमाणपत्र/मार्कशीट।
  5. संस्थान की आईडी.
  6. डिग्री/डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश शुल्क रसीद।
  7. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)।

FAQ( अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न):-

प्रश्न:- कन्या सुमंगला योजना क्या है?

उत्तर:- महिलाओं को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं चलाई जाती हैं, कन्या सुमंगला योजना ऐसी ही एक योजना है।

प्रश्न:- इसके क्या लाभ हैं ?

उत्तर:- वित्तीय सहायता।

प्रश्न:- अधिकतम योग्य पारिवारिक आय क्या है?

उत्तर:- लाभार्थी की अधिकतम वार्षिक पारिवारिक आय 3.00 लाख रूपये होनी चाहिए।

प्रश्न:- एक परिवार की कितनी बालिकाओं को योजना का लाभ मिल सकता है?

उत्तर:- एक परिवार में अधिकतम दो लड़कियों को योजना का लाभ मिल सकेगा।

प्रश्न:- एक परिवार में बच्चों की संख्या की सीमा क्या है?

उत्तर:- परिवार में अधिकतम दो बच्चे होने चाहिए।

प्रश्न:- योजना के लिए आवेदन कैसे करें?

उत्तर:- 1. आधिकारिक पोर्टल पर जाएं। 2. ऑनलाइन आवेदन पत्र भरें। 3. जरूरी दस्तावेज अपलोड करें. 4. सबमिट करें

प्रश्न:- कितने दस्तावेज़ आवश्यक हैं?

उत्तर:- 1. बच्ची की वर्तमान फोटो. 2. आवेदक के साथ बालिका का संयुक्त फोटो। 3. निर्धारित प्रारूप पर शपथ पत्र। 4. जन्म प्रमाण पत्र. 5. टीकाकरण कार्ड. 6. आधार कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी (वैकल्पिक)। 7. कक्षा 6वीं के लिए प्रवेश प्रमाण पत्र। 8. कक्षा 9वीं के लिए प्रवेश प्रमाण पत्र। 9. 10वीं/12वीं सर्टिफिकेट/मार्कशीट. 10. संस्थान की आईडी. 11. डिग्री/डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश शुल्क रसीद।

प्रश्न:- लॉगिन करने के लिए आधिकारिक वेब पोर्टल क्या है?

उत्तर:- निम्नलिखित लिंक पर क्लिक करें. यूआरएल: https://mksy.up.gov.in/women_welfare/citizen/guest_login.php

प्रश्न:- क्या अन्य राज्य का व्यक्ति भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकता है?

उत्तर:-  नहीं, केवल उत्तर प्रदेश की निवासी महिलाएं ही आवेदन कर सकती हैं।

प्रश्न:- क्या कोई जाति विशिष्ट पात्रता मानदंड है?

उत्तर:-  नहीं, यह योजना सभी महिलाओं/लड़कियों/बच्चों के लिए खुली है।

प्रश्न:- क्या आवेदकों को पहले चरण में लाभ मिलेगा?

उत्तर:-  नहीं, आवेदकों को 6 चरणों में लाभ मिलेगा।

Sources And References(स्रोत और सन्दर्भ)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *